Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

जमीनी विवाद को लेकर ननकी देवी द्वारा शर्मा नामक व्यक्ति के ऊपर लगाए गए थे गंभीर आरोप जिसका हुआ आज खुलासा

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

खजुहा विकास खंड क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले ग्राम सभा धौरहरा के कोरवाल गांव निवासिनी ननकी देवी ने अपने ही गांव के निवासी शर्मा निषाद के ऊपर मोबाइल खींचने के एवं लाठी डंडों से मारने एवं छेड़खानी के संबंध में कई बार अलग-अलग जाफरगंज थाने में तहरीर दिया था जिसकी जांच पड़ताल जाफरगंज थाना के हलका इंचार्ज अनिल राय द्वारा जांच कर झूठी दी गई तहरीर को खारिज कर देते गए लेकिन यह राज ना ही पुलिस को पता चल पाया कि ननकी देवी के अंदर किस बात को लेकर शर्मा के खिलाफ तहरीर के ऊपर तहरीर दे रही है ननकी देवी की जब थाने में सुनाई नहीं हुई तो उसने जिले के उच्च अधिकारियों को प्रार्थना पत्र देना शुरू कर दिया जिले के अधिकारियों द्वारा जब जाफरगंज थाने में दवा बनाकर ननकी देवी को न्याय दिलाने की सख्त हिदायत दी गई तो थाना प्रभारी दीप नारायण स्वयं मौके पर पहुंचकर ग्रामीणों से पूछताछ किया तो पता चला कि नानकी देवी 11 बिस्सा जीएस की जमीन में कब्जा कर गेट लग रही है जिसका विरोध ग्रामीण एवं शर्मा ने किया था गेट न लग पाने के कारण ननकी देवी ने इस तरह के झूठे आरोप लगाना ग्राम प्रधान व शर्मा के खिलाफ शुरू कर दिया था सच्चाई जान कर थाना प्रभारी ने जिले के समस्त सक्षम अधिकारियों को लिखित एवं मौखिक सूचना देकर अवगत करा दिया गया था और दोनों पक्षों को समाधान दिवस मे लेखपाल ग्राम प्रधान के समक्ष नाप जोक कर दोनों पक्षों को आपस में सुलह समझौता कर दिया गया था लेकिन फिर भी ननकी देवी द्वारा आरोप लगाना बंद नहीं किया गया यहां तक की ननकी देवी ने स्वयं अपने नाम की जमीन गाटा संख्या 34 का हाई कोर्ट से स्टे आर्डर ले लिया इसी ऑर्डर को लेकर गैर कानूनी ढंग से अधिकारियों को परेशान करती रही आखिर कल दिनांक 5.9.2023 दिन मंगलवार को ऊप न्यायिक मजिस्ट्रेट के साथ राजस्व टीम कोरावल गांव पहुंचकर पुलिस प्रशासन की मौजूदगी में देर शाम तक ग्रामीणों ने मिलकर नाप जोक कराया गया जहां पर पता चला कि गाटा संख्या 34 में केवल नाम ननकी देवी का ही अंकित है शर्मा का नाम गाटा संख्या 37 में है गाटा संख्या 34 से शर्मा का किसी प्रकार का कोई हस्तक्षेप नहीं मिला दोनों को आपस में शांत कराकर न्यायिक मजिस्ट्रेट ने आदेश दिया कि आप लोग हक बंदी दायर करें और जो सरकार की संपत्ति है उसे तत्काल खाली कर दें