Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

जेई का कहर तेज, दो माह में 11 मासूम मिले पीड़ित

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

महराजगंज। जिले में जापानी इंसेफेलाइटिस(जेई) का कहर तेज हो गया है। मात्र दो माह में इस बीमारी से 11 मासूम पीड़ित हो गए। हालांकि सभी पीड़ित इलाज के बाद स्वस्थ हो चुके हैं। लेकिन दो माह में एक दर्जन जेई पॉजिटिव मरीज मिलने पर स्वास्थ्य प्रशासन में हड़कंप मच गया है। जबकि बीते पूरे वर्ष में दस जेई पॉजिटिव मिले थे।

जिले में तीन साल बाद जापानी इंसेफेलाइटिस मरीजों में तेजी से इजाफा हो गया है। जनवरी से लेकर फरवरी तक इस बीमारी से 11 मासूम पीड़ित हो गए। जिला अस्पताल से लेकर मेडिकल कालेज में एक सप्ताह से लेकर 22 दिन इलाज के बाद सभी पीड़ित स्वस्थ हो चुके हैं। लेकिन हर माह छह जेई पॉजिटिव मरीज मिलने से स्वास्थ्य प्रशासन सकते में आ गया है।

पीड़ित के गांवों में निरोधात्कम कार्य तेज करने के साथ ही जेई टीकाकरण करने का निर्देश दिया है। माह में दो बार पीड़ित गांवों में फागिंग व कीटनाशक दवा छिड़काने का निर्देश

सीएमओ ने जेई पीड़ितों के गांव में हर 15वें दिन नालियों और सुअरबाड़ों में कीटनाशक दवा छिड़काव करने के बाद शाम को फागिंग करने का निर्देश दिया है। ऐसे में माह में दो बार पीड़ित के गांवों में कीटनाशकदवा का छिड़काव और फागिंग होगी।

जापानी इंसेफेलाइटिस मरीजों में तेजी से इजाफा हुआ है। इसे कंट्रोल करने के लिए शत-प्रतिशत बच्चों को जेई टीकाकरण करने के साथ ही पीड़ित के गांवों में हर 15 दिन पर कीटनाशक दवा का छिड़काव और फागिंग करने का निर्देश दिया गया है।

 

डॉ. नीना वर्मा, सीएम