Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

परमीट होने के बाद भी किसके दबाव में रेंज परिसर लाया गया कास्तकार की लकड़ी।

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

  1. निचलौल/महराजगंज: अजीबोगरीब कारनामें के लिए विख्यात DFO पुष्प कुमार एकबार फिर सुर्खियों मे बने हुए है । कानून हाथ में लेकर कुछ दलालों के मिलीभगत से एक कास्तकार के खेत की सुखे और गिरे साखू के वृक्षो को परमीट स्वयं जारी करने के बाद भी लकड़ी को जब्त करने के बाद रेंज परिसर लाने का फरमान जारी किया। सात बोटा साखू रेंज परिसर में उठा लाये। सोहगीबरवां वन्य जीव प्रभाग निचलौल रेंज के ग्राम सभा रामचंद्रही के कास्तकार सौरभ मिश्र पुत्र विजय मिश्र और मुहम्मद कैफ पुत्र सौकत का आराजी नम्बर 204 में भूमिधर है जिसमे केले आदि की खेती होती है। उक्त भूमि में छिटपुट साखू के पेड़ स्थित है इन्हीं पेड़ों में से सुखे और गिरे 21अदद बृक्षो का परमीट बनाने का आदेश डी एफ ओ पुष्प कुमार द्वारा दिया गया। और वाहन पास भी जारी हुआ लेकिन कुछ दलालों के अवैध धनराशि कास्तकार से मांग किया। जिसको कास्तकार द्वारा पूरा नहीं किया गया। इससे नाराज दलालों ने DFO पुष्प कुमार से उक्त प्रकरण में शिकायत कर दिया। जिस पर DFO पुष्प कुमार द्वारा उक्त प्रकरण की जांच कराई गई। जिसमें पूर्व में कटे तीन अदद पुराने बुट परमीट हुए बृक्षो की संख्या से अधिक मिले। इसके बाद DFO ने परमीट सुदा लकड़ी उक्त बोटो को रेंज परिसर लाने का फरमान जारी कर अधिनस्थों को उक्त ढुलाई का जिम्मा सौंपा। अधिनस्थों द्वारा सात बोटा सांखू की लकड़ी जब्त कर रेंज परिसर लाया गया।