Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

पवन सिंह और खेसारी लाल यादव के लड़ाई में जय यादव का करारा जवाब

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

 

दोनो कलाकारों के बीच जारी जुबानी जंग में जय यादव ने धमाकेदार एंट्री मारी है और करारा जवाब दिया है।
अपने एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा की किसी भी कलाकार की औकात पैसे से नही आकी जा सकती ऐसे शब्दों का प्रयोग एक सेलिब्रिटी को नहीं करना चाहिए। सेलिब्रिटी को उसके फैन फॉलो करते है तो उनको कुछ भी बोलने से पहले सोचना चाहिए की उसका असर समाज पर क्या पड़ेगा। और अगर गलती से कुछ शब्द उनके मुंह से निकल भी जाता है तो उनको तुरंत अपने शब्द वापस लेना चाहिए और जनता से माफी मांगनी चाहिए।
जय यादव ने काजल राघवानी के इंटरव्यू , जिसमे उन्होंने कहा था की अगर सिंह के साथ काम करो तो यादव और पांडे साथ में काम करने से मना करते है और अगर यादव के साथ काम करो तो सिंह और पांडे माना करते है इसी तरह पांडे के साथ काम करो तो सिंह और यादव माना करते है। इस तरह की सोच वाले लोग की मानसिक स्थिति सही नही बताया। बोला ऐसे लोग ही भोजपुरी इंडस्ट्री का नाम खराब करते है। उन्होंने काजल रघवानी के साथ सहानुभूति जताई और अपने इंडस्ट्री के प्रोड्यूफर्स डायरेक्टर्स और एक्टर्स से आग्रह किया की ऐसा किसी भी हीरोइन के साथ न हो इसका ध्यान रखा जाए।
भोजपुरी फिल्मों को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने के सवाल पर जवाब देते हुए कहा की इसके लिए हमारी भोजपुरी ऑडियंस को आगे आना होगा उन्हें सभी अच्छी फिल्मों को सपोर्ट करना होगा। चाहे वो किसी की भी फिल्म हो । आगे बोलते हुए जय यादव ने कहा की आप हो सकता है की खेसारी के फैन है और पवन की फिल्म या निरहुआ की फिल्म या जय यादव की फिल्म अच्छी है टोंस फिल्म को देखे ना की सिर्फ अपने पसंदीदा स्टार की ही फिल्मों को सपोर्ट करे। ऐसे ही सभी स्टार के फैंस से जय यादव ने आग्रह किया।
आगे बात करते हुए अपने आगामी फिल्में अमानत, गुंडों की आएगी बारात, बाबुल की गलियां, सुंदरी, और दिल मिल गए के बारे में भी बात किया।
हाल ही में उनकी रिलीज दो फिल्मों के ट्रेलर मेरे रंग मे रंगने वाली और साथ छूटे ना साथिया को यू ट्यूब पे देखने के लिए कहा और ये भी अपील किया की अगर आपको कुछ अच्छा लगा तो कॉमेंट्स बॉक्स में लिखे और कुछ अच्छा नहीं लगा तो वो भी लिखे जिससे हमे ये पता चल सके की हमारी ऑडियंस को किस तरह की फिल्म चाहिए फिर हम उस तरह की फिल्मों का निर्माण कर पाएंगे।
जाते जाते उन्होंने कहा की ये चार दिन की आपस की जुबानी जंग है उसके बाद सभी कलाकार आपस में मिलेंगे साथ में काम करेंगे और पार्टी भी करेंगे तो इन बातो को ज्यादा सीरियसली ना ले।