Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

पुलिस के परिजन के शोषित व नक्सल पीड़ित से दिनेश होगें प्रत्याशी

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

पुलिस के परिजन के शोषित व नक्सल पीड़ित से दिनेश होगें प्रत्याशी


भानुप्रतापपुर। भानुप्रतापपुर उप चुनाव में नक्सल पीड़ित, पुलिस परिवार के परिजनों ने भी अपनी प्रत्याशी उतारने का फैसला किया है। और नक्सल पीड़ित दिनेश कल्लो को निर्दलीय प्रत्याशी के रुप मे उतारने का फैसला किया है और मंगलवार को प्रेसवार्ता किया। उज्ज्वल दीवान, संजीव मिश्रा, दिनेश कल्लो ने प्रेसवार्ता में कहा सरकार के द्वारा पुलिस परिजनों, नक्सल पीड़ित, शहीद परिवार के जायज सुविधाएं को नहीं देने का आरोप लगाकर यह चुनाव लड़ने का फैसला करते हुए चुनावी घोषणापत्र जारी किया है जिसमे पुलिस परिवार के शोषित व नक्सल पीड़ित 32 मुद्दे को चुनावी मुद्दा बनाया है।
विधानसभा उप-चुनाव निर्दलीय प्रत्याशी दिनेश कल्लो ने बताया कि मैं स्वयं पीड़ित परिवार से हू, पीड़ित परिवार को मुक्ति दिलाने व उनकी आवाज बनकर उनकी मदद करने के उद्देश्य से ही लोकतांत्रिक तरीके से चुनाव मैदान में उतरा हूँ । हमारे प्रमुख न्याय पत्र में 32 बिंदु है जिनमे आदिवासी मुख्यमंत्री बनाने की नींव रखी जा रही है एवं मांग 2023 में पूरा किया जायेगा। भानुप्रतापपुर, अंतागढ़ एवं पखाजुर को मिलाकर जिला बनाने का प्रयास किया जायेगा। स्थानीय खदानों में स्थानीय लोगो को रोजगार दिलाने का पूर्णतः प्रयास किया जायेगा। आदिवासियों को पूर्व की भांति आरक्षण दिलाने का पूरजोर प्रयास किया जायेगा, ट्रांसपोर्ट क्षेत्र में स्थानीय निवासियों की गाड़ियों को पहली प्राथमिकता दिलाई जायेगी।
सत्ताधारी पार्टी द्वारा किये गये घोषणापत्र के अनुरूप 2500 रू. बेरोजगारी भत्ता एवं अन्य वादे पूरे करवाने का प्रयास किया जायेगा। नक्सल पिड़ित परिवारो की मांगो को पूरी किया जायेगा। समस्त अनियमित कर्मचारी, दैनिक वेतनभोगी, संविदा कर्मचारी, रसोईया संघ मितानीनो, पंचायत भृत्य एवं अन्य मांग करने वाले एवं पिड़ित लोगो की हक की मांगे पूरी करवाने के लिये प्रयास किया जायेगा। संयुक्त पुलिस परिवार शहीद परिवारो की हक की मांगो को पूरा करवाया जायेगा।
केन्द्र, राज्य सरकार की समस्त योजनाओ (निशुल्क आवास, चिकित्सा, शिक्षा, बिजली, पानी, सड़क, इत्यादी) को धरातल पर लाकर जनता को लाभ दिलाया जायेगा। झूठे प्रकरणो में जेल में निरूद्ध आदिवासीयों को छुडायेंगे। भानुप्रतापपुर विधानसभा क्षेत्र में 20 निःशुल्क एम्बुलेंस की व्यवस्था की जायेगी। समस्त सड़को को दो माह के भीतर सुधारा जायेगा। पत्रकार सुरक्षा कानून को लागू करवाने का प्रयास करेंगे।वकील सुरक्षा कानून को लागु करवाने का प्रयास करेंगे राईट टू रिकॉल (वापस बुलाने का अधिकार ) के लिये प्रयास करेंगे।हमारा चुना हुआ विधायक कार्यकाल समाप्त होने के बाद पेंशन या अन्य कोई भी सरकारी सुविधा
का उपभोग नही करेगा।
महिलाओ एवं बच्चो की सुरक्षा के लिये विशेष व्यवस्था की जायेगी। भ्रष्टाचार एवं रिश्वतखोरी को समाप्त करने के लिये पूर्णतः प्रयास किया जायेगा।


चिटफंड कंपनियो द्वारा ठगे गये लोगो के पैसे वापस दिलाने के लिये जमीनी स्तर किया जायेगा। वन अधिकार पट्टा एवं कब्जाधारियों को निःशुल्क वैधानिक पटटा मिले इसके लिये संघर्ष किया पर प्रयास
जायेगा। रेलवे एवं खदाना प्रभावित किसानो एवं पिड़ितो को हर घर से रोजगार व मुआवजा दिलाने के
लिए संघर्ष किया जायेगा।
भानुप्रतापपुर क्षेत्र के समस्त देवगुड़ी, धार्मिक स्थलो को पर्यटन स्थल बनायेंगे एवं स्थानीय मुददो को पूरा करवायेंगे। सहित 32 एजेंडा को लेकर मैदान में उतारेंगे। साथ साथ लगभग 10 हजार मतदाता है इसके अलावा प्रचार प्रसार कर यह संख्या बढ़ाया जाएगा।