Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

फाइनल में नीरज चोपड़ा के जैवलिन लेने पर फैन्स ने किया अरशद नदीम को ट्रोल, ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट ने ऐसे किया पाकिस्तान एथलीट का बचाव

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

टोक्यो ओलंपिक 2020 में भारत को गोल्ड मेडल दिलाने वाले जैवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा ने एक इंटरव्यू में बताया था कि इवेंट के दौरान उनका जैवलिन पाकिस्तान के जैवलिन थ्रोअर अरशद नदीम के पास था। नीरज के इस बयान के बाद सोशल मीडिया पर विवाद खड़ा हो गया। तमाम लोग ऐसे मैसेज लिखने लगे कि अरशद ने उस समय जानबूझकर नीरज का जैवलिन ले लिया था। अब नीरज चोपड़ा ने इस पूरे मामले पर सफाई दी है। उन्होंने सोशल मीडिया पर एक वीडियो पोस्ट कर बताया कि अरशद ने जो कुछ किया था, उसमें कुछ गलत नहीं था।

दरअसल, नीरज ने हाल ही में दिए एक इंटरव्यू में कहा था कि फाइनल मुकाबले में उनका जैवलिन अरशद के पास था, जिसको खोजने के लिए वह काफी परेशान हुए थे। नीरज के इस खुलासे के बाद फैन्स ने अरशद को आड़े हाथों लिया है और इसको बड़ा मुद्दा बनाने की कोशिश की जा रही है। गोल्ड मेडलिस्ट नीरज ने इसी बीच अपने ट्विटर पर एक वीडियो शेयर करते हुए अरशद का बचाव किया है और उन्होंने सभी से अपील की है कि इस पर राजनीति न की जाए। 

 

 

नीरज चोपड़ा ने अपने ट्विटर पर शेयर किए वीडियो के कैप्शन में लिखा, ‘मेरी आप सभी से विनती है कि मेरे कमेंट को अपने गंदे एजेंडा को आगे बढ़ाने का माध्यम न बनाए। स्पोर्ट्स हम सबको एकजुट होकर साथ रहना सिखाता है और कमेंट करने से पहले खेल के रूल्स जानना जरूरी होता है।’ वीडियो में नीरज ने बताया कि जैवलिन थ्रो के नियमों के अनुसर एक एथलीट दूसरे एथलीट के जैवलिन को प्रैक्टिस के लिए इस्तेमाल कर सकता है और फाइनल में अरशद भी ऐसा कर रहे थे। इससे पहले ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट ने टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए इंटरव्यू में बताया था कि, ‘कहानी ये है कि मैं फाइनल की शुरुआत से पहले अपना जैवलिन तलाश कर रहा था। मैं उसे नहीं खोज पा रहा था। अचानक मैंने देखा कि अरशद नदीम मेरे जैवलिन के साथ घूम रहा है। मैंने उससे कहा,  भाई यह मेरा जैविलन है, यह मुझे दे दो। मुझे इससे थ्रो करना है। तब उसने मुझे वह वापस किया।’ 

बता दें कि नीरज चोपड़ा और अरशद काफी अच्छे दोस्त हैं और वह कई टूर्नामेंट में साथ में शिरकत कर चुके हैं। नीरज ने अरशद के प्रदर्शन की तारीफ भी की थी। उन्होंने कहा था, ‘अरशद नदीम ने क्वालीफाइंग राउंड के साथ-साथ फाइनल में भी वास्तव में अच्छा प्रदर्शन किया। मुझे लगता है कि यह पाकिस्तान के लिए अच्छा है। उनके पास जैवलिन में रूचि दिखाने और फ्यूचर में इंटरनेशनल मंच पर अच्छा प्रदर्शन करने का मौका है।’ नीरज ने टोक्यो ओलंपिक के फाइनल में 87.58 मीटर का थ्रो फेंककर गोल्ड मेडल पर कब्जा किया था।

संबंधित खबरें

Source link