Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

मोतिहारी मुफस्सिल थाना क्षेत्र के एक ही परिवार के 5 की रहस्यमय बीमारी से मौत,मचा कोहराम

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

बिहार———

मोतिहारी: मोतिहारी मुफस्सिल थाना क्षेत्र के सिरसा काॅलोनी में आठ दिनों के अन्दर एक ही परिवार के 5 लोगों की मौत रहस्यमय बीमारी से हो गई है। पहले मरे तीन शवों को प्राकृतिक मौत समझकर दाह संस्कार कर दिया। जब शनिवार को भी दो बच्चों की मौत होने पर लोग बौखला गए और मोतिहारी मधुबनीघाट रोड को सिसरसा चौक के पास जाम कर दिया और वरीय पदाधिकारियों को बुलाने की मांग करने लगे। लगभग आधा घंटा तक जाम रहा। डीएम शीर्षत कपिल अशोक के निर्देश पर सिविल सर्जन ने एक एम्बुलेंस भेजकर शवों को सदर अस्पताल मंगवाया। मेडिकल बोर्ड ने शवों का पोस्टमार्टम किया।
पोस्टमार्टम के बाद मेडिकल बोर्ड ने वेसरा की जांच के बाद ही बीमारी का पता चलने की बात बताई है। वैसे परिवार वालों ने बताया है कि पेट में दर्द के बाद गला बैठ जा रहा था। कुछ देर इशारों में बात समझाने की कोशिश के बाद निजी अस्पताल में इलाज के लिए ले जाने के दौरान मौत हो जा रही थी। जिनकी मौत हुई है उसका नाम रविन्द्र प्रसाद (32), प्रियांशु कुमार (10),मुनी कुमारी(14),सत्यम उर्फ कालू(4) व अंशु कुमारी (13) की मौत हो गई है। बताया जाता है कि रविन्द्र और प्रियांशु बाप बेटा हैं। दोनों की मौत एक ही दिन कुछ घंटे के अंतराल पर हो गई। वैसे पुलिस का कहना है कि सत्यम के नाक और मुंह से खून निकल रहा था, जबकि मुनी के मुंह से झाग निकल रहा था।
सदर पीएचसी के चिकित्सा पदाधिकारी श्रवण पासवान का कहना है कि उस गांव में महामारी विशेषज्ञ टीम भेजने की जरूरत है।पेट में दर्द होने के बाद अचानक मौत होने को उन्होंने आश्चर्य की बात बताया। उन्होंने बाढ़ पीड़ित परिवार को कहीं अन्य स्कूल या सार्वजनिक स्थान पर आश्रय दिलाने के लिए सिरसा पंचायत के मुखिया से आग्रह किया है।
मृतक परिवार के मुखिया परशुराम प्रसाद कुशवाहा का कहना है कि बीमार पड़ने पर लोकल डॉक्टर और निजी अस्पताल में इलाज कराया गया।पहले इस बात का अंदेशा हुआ कि सर्पदंश का मामला है। लेकिन अचानक पेट दर्द होने और बाद में गला अवरुद्ध हो जाने के कारण इलाज के लिए ले जाते मौत हो जाती थी।
अब वेसरा जांच रिपोर्ट आने के बाद ही बीमारी का पता लग सकता है।
जे.पी.श्रीवास्तव,
ब्यूरो चीफ, बिहार