Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

शोषण विहीन  समाज के पक्षधर थे सफदर हाशमी,उनके सपने आज  भी अधूरे

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

शोषण विहीन  समाज के पक्षधर थे सफदर हाशमी,उनके सपने आज  भी अधूरे
छपरा /जलालपुर : प्रगतिशील साहित्यक एवं सांस्कृतिक संगठन “विकल्प ” के बैनरतले मांझी प्रखंड के बलोखरा स्थित रमाशंकर गिरि सभागार  में प्रसिद्ध रंगकर्मी व नाटककार,साहित्यकार प्रो. सफदर हाशमी का शहादत दिवस  सद्भावना दिवस के रूप में मनाया गया। कार्यक्रम की विधिवत  शुरुआत सफदर हाशमी के तैलचित्र पर माल्यार्पण के साथ हुई। वही इस अवसर पर “विकल्प “से जुडे रंगकर्मियों ने शहीद  गान  गाकर सफदर को समर्पित किया।  कार्यक्रम की अध्यक्षता सारण जिला “विकल्प “के जिला उपाध्यक्ष  शिवनाथ पुरी ने की।वहीं संचालन शिक्षक नेता उदय शंकर “गुड्डू” ने की . मौके पर   उपस्थित लोगों को सम्बोधित करते हुए प्रसिद्ध साहित्यकार व लेखक डा.राजेन्द्र प्रसाद सिंह  ने कहा कि आजादी  के सत्तर वर्षों के बाद भी जिन  मूल्यों को लेकर  शहादत दी और जो शोषण विहीन समाज  की कल्पना की थी वह आज  भी अधूरा है। वहीं विशिष्ट अतिथि के रुप  में राजेन्द्र  महाविद्यालय  के प्रोफेसर  विधानचंद्र  भारती ने विस्तार से सफदर के मानव मूल्यों की चर्चा की। मौके पर सफदर  हाशमी शहादत  समारोह को शहीद स्मारक  समिति के सचिव सुमन कुमार, किसान नेता अरुण कुमार,कन्हैया यादव,चन्द्रमा राय,धनलाल भारती, बलिराम पुरी,गजेंद्र दास,डा.दिलीप प्रसाद,ललन राय,शंभूनाथ  गिरि,प्रो यदुवीर  भारती गजेंद्र दास  आदि ने संबोधित किया।वहीं पूरे कार्यक्रम  के बीच-बीच में “विकल्प “से जुडे सांस्कृतिक  कलाकारो ने जनगीतो की प्रस्तुति देकर सफदर  हाशमी  के अधूरे सपने को पूरा करने का संकल्प  दोहराया।धन्यवाद ज्ञापन राजद नेता अभय गोस्वामी ने किया।वही
प्रखण्ड के अनवल पंचायत भवन परिसर में भी जिला अध्यक्ष बीरेंद्र सिंह व शिक्षक  उमेश यादव  के नेतृत्व में सफदर हाशमी का शहादत दिवस मनाया गया . कार्यक्रम को  सांस्कृतिक मोर्चा के पूर्व राज्य  संयुक्त सचिव  अहमद अली  पप्पू यादव ,बच्चा राय ,अजित यादव ,अकबर अली नवीन कुमार आदि ने सम्बोधित किया ।