Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

भ्रष्टाचार की शिकायत करने पर वनपाल नमित तिवारी ने पत्रकार को दिया जान से मारने की धमकी थाने में हुआ शिकायत

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

भ्रष्टाचार की शिकायत करने पर वनपाल नमित तिवारी ने पत्रकार को दिया जान से मारने की धमकी थाने में हुआ शिकायत।

पत्रकार ने मुख्य वन संरक्षक बिलासपुर को वनपाल नमित तिवारी के द्वारा कार्यों में किये गये भ्रष्टाचार की शिकायत किया था।

मुख्य वन संरक्षक बिलासपुर ने शिकायत पर तत्काल संज्ञान लेते हुए जांच करने का आदेश दिया है।

अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति के द्वारा वनपाल के ऊपर सख्त कार्यवाही को लेकर राज्यपाल एवम कलेक्टर बिलासपुर के नाम ज्ञापन देगी।

बिलासपुर/छत्तीसगढ़ में जैसे जैसे चुनावी माहौल गरमा रहा है वहीं अचार संहिता लगने के बाद अधिकारियों,कर्मचारियों की दादागिरी भी बढ़ती जा रही है ताजा मामला बिलासपुर वनमंडल के अंतर्गत आने वाला खोंद्रा परिवृत्त के वनपाल के द्वारा कार्यों में किये गये भ्रष्टाचार की शिकायत वरिष्ठ पत्रकार महफूज खान के द्वारा मुख्य वन संरक्षक को दिनाक 10 अक्टूबर 2023 को किया गया, जिस शिकायत को मुख्य वन संरक्षक ने गंभीरता से लेते हुए डीएफओ के माध्यम से जांच कराने का आश्वासन दिया था जिसकी जानकारी वनपाल नमित तिवारी को लगी उनके द्वारा 11 अक्टूबर 2023 को शाम पत्रकार को फोन लगाकर शिकायत वापस लेने का दबाव बनाने लगा जिस पर पत्रकार ने मना कर दिया उसके बाद वनपाल नमित तिवारी ने पत्रकार को मोबाइल में ही गाली गलौज शुरू कर दिया जिससे भयभीत होकर पत्रकार ने तारबहार थाना में शिकायत दर्ज करा दिया।

अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति लेगी संज्ञान:-
पत्रकारों पर अधिकारियों एवम कर्मचारियों के द्वारा दुर्वव्हार का यह पहला मामला नहीं है छत्तीसगढ़ के अलग अलग जगहों से हमेशा शिकायत आती रही है बिलासपुर की घटना को पत्रकार सुरक्षा समिति गंभीरता से लेगी और उस कर्मचारी की शिकायत राज्यपाल से लेकर बिलासपुर कलेक्टर एवम चुनाव आयोग तक करेगी ऐसी कर्मचारी पर सख्त से सख्त कार्यवाही की जाए जिससे पत्रकार स्वतंत्र रूप से अपनी पत्रकारिता कर सके कार्यवाही न होने दशा में पत्रकारों को सड़क में उतर कर आंदोलन करने के सिवाय कोई दूसरा रास्ता नहीं रहेगा।