Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

LPG के बढ़ते दाम पर विपक्ष ने मोदी सरकार पर साधा निशाना

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

लखनऊ: केंद्र सरकार ने बुधवार को घरेलू और कॉमर्शियल सिलेंडर के दामों में बढ़ोतरी कर दी है। नए दामों के बाद यूपी के जिलों में गैस के रेट बढ़ गए हैं। बता दें कि घरेलू LPG सिलेंडर 50 रुपये और कॉमर्शियल सिलेंडर में 350 रुपये भारी बढ़ोतरी की गई हैं। वहीं, बढ़ती महगांई पर विपक्ष भी सरकार को घेरने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहा है। सपा के मुखिया अखिलेश यादव ने एलपीजी सिलेंडर में बढ़ोतरी को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि “कमर्शियल सिलेंडर के दाम बढ़ने से हर तरह का उत्पादन महंगा होगा। लागत बढ़ेगी तो उत्पादों के दाम भी बढ़ेंगे। जो नौकरीपेशा वाले लोग बाहर से मंगाए टिफिन के खाने पर निर्भर है उनके जेब पर भी डाका पड़ा है।

 

एलपीजी को लेकर सपा- कांग्रेस ने कही ये बात

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अपने एक ट्वीट में लिखा कि “भाजपा घरेलू व कमर्शियल सिलेंडर के दाम बढ़ाकर खाने पर अप्रत्यक्ष कर लगा रही है।” इसके आगे उन्होंने लिखा कि “कमर्शियल सिलेंडर के दाम बढ़ने से हर तरह का उत्पादन महँगा होगा, लागत बढ़ेगी तो उत्पादों के दाम भी बढ़ेंगे। जो नौकरीपेशा बच्चे बाहर से मंगाए टिफ़िन और खाने पर निर्भर करते हैं, ये उनकी जेब पर भी डाका है।” वहीं कांग्रेस के नेता गौरव वल्लभ ने एक बयान में कहा कि ‘मित्र काल’ में बड़ी बेरहम हो गई है मोदी सरकार, रसोई गैस 1,100 तो कॉमर्शियल सिलेंडर 2,100 रुपये के किया पार।

“अपने मित्रों पर खूब बरसाए प्यार, और देश की जनता करे महंगाई से हाहाकार।”

वहीं, अखिलेश यादव के इस ट्वीट के बाद लोग कॉमेंट सेक्शन में अपनी- अपनी समस्या लेकर सामने आए। कुछ लोगों ने कहा कि मोदी सरकार ने देशवासियों को होली पर्व का गिफ्ट दिया है। मोदी हैं तो सब कुछ संभव है। 350 रूपए जब दाम थे तब भाजपा सड़कों पर प्रदर्शन करती थी। आज करीब 1200 रुपए कीमत हो गई है। ऐसा लग रहा है कि 2024 के बाद सिलेंडर का रेट 2500 रुपये पहुंच जाएगी। वहीं कुछ लोगों ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आपने जब से भारत के गरीबों शोषित-वंचितों को उज्जवला योजना के तहत गैस सिलेंडर दिए हैं तब से गैस के दामों में लगभग 300 से 400 रुपये की उछाल आई है। आप सोचिए कि जहां दैनिक जीवन में न्यूनतम वेतन 10 हजार रुपये हो वह 1 हजार का सिलेंडर कहां से भराएगा।