Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

PAK जैवलिन थ्रोअर अरशद नदीम मामले में नीरज चोपड़ा के सपोर्ट में आए बजरंग पुनिया, कहा- खेल नहीं सिखाता आपस में बैर रखना

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

टोक्यो ओलंपिक 2020 में भाला फेंक इवेंट में गोल्ड मेडल जीतकर इति​हास रचने वाले भारत के नीरज चोपड़ा ने हाल के समय में लोगों से अपील की थी कि वे अपने प्रोपेगेंडा और एजेंडे के लिए उनके नाम का इस्तेमाल नहीं करें। पाकिस्तान के भाला फेंक एथलीट अरशद नदीम के चोपड़ा का जैवलिन लेने की घटना को लेकर मीडिया और समाचार चैनलों पर कई तरह की बातें की जा रही थी। इसके बाद खुद नीरज ने सोशल मीडिया पर आकर लोगों से अपना एजेंडा न चलाने की अपील की थी। इस पूरे मामले पर अब टोक्यो ओलंपिक के ब्रॉन्ज मेडलिस्ट और भारतीय पहलवान बजरंग पुनिया ने नीरज का सपोर्ट किया है। 

एएनआई के मुताबिक, बजरंग ने कहा, ‘ पाकिस्तान के भाला फेंक एथलीट अरशद नदीम को लेकर नीरज चोपड़ा के साथ मुद्दा बनाया जा रहा है। एथलीट चाहे पाकिस्तान से हो या किसी अन्य देश से, वह अपने देश का प्रतिनिधित्व करता है। हम भले ही मैट पर या मैदान में प्रतिद्वंद्वी हो, लेकिन बाहर हम भाई—भाई हैं। खेल हमें आपस में बैर रखना नहीं और ना ही किसी के साथ भेदभाव करना सिखाता है। यह हमें एकजुट रहना सिखाता है।’

भाला को लेकर पाकिस्तानी एथलीट नदीम का बचाव करने बाद नीरज ने पाकिस्तान के लोगों का दिल जीत लिया। नदीम का सपोर्ट करने के लिए पाकिस्तान में नीरज की जमकर तारीफ हो रही है। लोग उन्हें असली चैंपियन और हीरो बता रहे हैं। टोक्यो ओलंपिक के फाइनल से पहले उनका भाला पाकिस्तान के जैवलिन थ्रोअर अरशद नदीम ले गए थे। उन्होंने एक इंटरव्यू में ये जानकारी दी। 

नीरज चोपड़ा ने जीता पाकिस्तान के लोगों का दिल, अरशद नदीम का सपोर्ट करने पर जमकर हो रही ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट की वाहवाही

इसके बाद भारत में कुछ लोग अरशद नदीम को ट्रोल करने लगे। उन्होंने अरशद नदीम पर जानबूझकर जैवलिन से छेड़छाड़ का आरोप लगाया।  इस विवाद के बाद नीरज चोपड़ा ने आगे आकर अरशद नदीम को डिफेंड किया। नीरज ने ट्विटर पर शेयर किए वीडियो के कैप्शन में लिखा, ‘मेरी आप सभी से विनती है कि मेरे कमेंट को अपने गंदे एजेंडा को आगे बढ़ाने का माध्यम न बनाए। स्पोर्ट्स हम सबको एकजुट होकर साथ रहना सिखाता है और कमेंट करने से पहले खेल के रूल्स जानना जरूरी होता है। जैवलिन थ्रो के नियमों के अनुसर एक एथलीट दूसरे एथलीट के जैवलिन को प्रैक्टिस के लिए इस्तेमाल कर सकता है और फाइनल में अरशद भी ऐसा कर रहे थे।’

संबंधित खबरें

Source link