Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

पत्नी और दो बच्चों को मार कर फांसी पर लटक गया डॉक्टर, दो दिन से बंद था सरकारी आवास, दरवाजा तोड़कर निकाला गया शव

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

पत्नी और दो बच्चों को मार कर फांसी पर लटक गया डॉक्टर, दो दिन से बंद था सरकारी आवास, दरवाजा तोड़कर निकाला गया शव

रायबरेली। उत्तर प्रदेश के रायबरेली जिले के लालगंज में मॉडर्न रेल कोच फैक्टरी के सरकारी आवास में डॉक्टर ने अपनी पत्नी और दो बच्चों को मारने के बाद खुद फांसी पर लटक गया।इस हैरतअंगेज मामले की जानकारी तब सामने आई जब मंगलवार की रात दो दिन से बंद सरकारी आवास का दरवाजा तोड़ा गया। डॉक्टर का शव फांसी पर लटका मिला।डॉक्टर की पत्नी और बेटा,बेटी अलग- बेड पर पड़े मिले।

आधुनिक रेल डिब्बा कारखाना (आरेडिका) परिसर स्थित अस्पताल में डीएमओ के पद पर तैनात नेत्र सर्जन 45 वर्षीय डॉ. अरुण सिंह का शव उनके सरकारी आवास में फंदे से लटका मिला।उनकी पत्नी अर्चना, 12 वर्षीय बेटी अदीवा और 4 वर्षीय बेटा आरव के शव बेड पर पड़े मिले।

डॉक्टर और उनकी पत्नी व बच्चे दो दिन से आवास के बाहर नहीं देखे जा रहे थे। आवास का दरवाजा भी अंदर से बंद था। संदेह होने पर मंगलवार देर रात आसपास के लोगों ने पुलिस और आरपीएफ को सूचना दी। मौके पर पहुंचे सीओ महिपाल पाठक और अपराध निरीक्षक पंकज त्यागी ने आवास का दरवाजा तोड़वाया। पुलिसकर्मी अंदर पहुंचे तो डॉक्टर का शव फंदे से लटका मिला।डॉ. अरुण मिर्जापुर जिले के चुनार क्षेत्र के फरहाना गांव के रहने वाले थे।

पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शी का कहना है कि प्रथम दृष्टया जांच में ऐसा प्रतीत होता है कि डॉक्टर ने पहले पत्नी और बच्चों को मार दिया और फिर फांसी पर लटक गया।एसपी ने बताया कि फॉरेंसिक टीम जांच कर रही है।स्टाफ के लोगों से पता चला है कि डॉक्टर काफी दिनों से डिप्रेशन में था। सभी शवों का पोस्टमार्टम कराया जाएगा। चारों की मौत की सही वजह पीएम रिपोर्ट आने के बाद ही पता चल पाएगी।

Arun
Author: Arun