Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

खत्म हुआ कई पीढ़ियों का इंतजार’, सदन में चर्चा के दौरान बोले पीएम मोदी

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

मास रिलीज बजट सत्र में शनिवार (10 फरवरी) को अयोध्या में राम मंदिर निर्माण पर चर्चा हो रही है। इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी भाग लिया. इस दौरान मोदी ने कहा कि सरकार पांच साल से देश में रिफॉर्म, परफॉर्म और ट्रांसफॉर्म के साथ रह रही है।

देशसोम की 17वीं वर्षगांठ को आशीर्वाद दो।

पीएम मोदी ने कहा, “पिछले 5 पूर्वी देशों में सेवा में अहम फैसले हुए हैं। आज का दिन महत्वपूर्ण है। आज देश नया विश्वास अनुभव कर रहा है। पांच साल में रिफॉर्म, ट्रांसफॉर्म और परफॉर्म किया गया।” का काम हो रहा है।”

’17वें नोजमो को आशीर्वाद देगा देश’
उन्होंने कहा कि यह बहुत कम देखा गया है कि सुधार और प्रदर्शन दोनों होते हैं और हम परिवर्तन को अपनी आंखों के सामने देख सकते हैं। देश 17वीं नोज के माध्यम से अनुभव जारी है और मेरा दृढ़ विश्वास है कि देश 17वीं नोज को आशीर्वाद जारी है।
17वीं सदी के नए मॉडल बनाए गए हैं
हमारा संविधान लागू होने के 75 वर्ष भी इसी तरह कालखंड में पूरे हुए। इस इलाक़े में बहुत ही रिफ़ॉर्म हुए। गेमचेंजर 21वीं सदी की मजबूत नींव की इन सारी बातों में नजर आती है। एक बड़े बदलाव की ओर तेज गति से आगे बढ़ा है।

उन्होंने कहा, “अनेक मठाधीश ने एक संविधान का संदेह देखा था, लेकिन हर पल एक धार्मिक कट्टरता थी। हालांकि इसी तरह सदनों ने अनुच्छेद 370 को नरम संविधान के रूप में प्रदर्शित किया। संविधान बनाने वाले महापुरुषों की आत्मा हमें आशीर्वाद दे रही होगी।” “

‘सबसे बड़ा संकट झेला’
प्रधानमंत्री ने कहा, ”5 साल में सदी का सबसे बड़ा संकट मानव जाति ने झेला, कौन बचाएगा, कौन नहीं, किसी को बचाया या नहीं। घर से निकलना भी मुश्किल था, उसके बाद भी संसद बिजनेसमैन ने देश का काम अनइंस्टॉल किया।”

मोदी ने कहा कि इस दौरान किसानों ने अपनी सैलरी में 30 फीसदी की कटौती का फैसला किया है. सभी मसालों ने बिना कारण साल में दो बार हिंदुस्तान के मीडिया के किसी न किसी कोने में गलियां खायीं, लेकिन कैंटीन में खाटें हैं।

पुस्तकालय के दरवाजे आम लोगों के लिए खोले गए
प्रधानमंत्री ने कहा, “संसद की पुस्तकालय के दरवाजे आपने (सभापति जी) सामान्य व्यक्ति के लिए खोल दिए हैं। ज्ञान का यह खजाना, बौद्ध धर्म की यह विरासत जन सामान्य के लिए खोल कर बहुत बड़ी सेवा की है।” .इसके लिए मैं आपका साथी हूं।”

उन्होंने कहा, ”इस साल देश में बहुत सारे रिफॉर्म्स बढ़े हैं। 21वीं सदी के भारत की मजबूत नींव उन सारी बातों में नजर आती है। बदलावों की तरफ देश की तेज गति से आगे बढ़े हैं और देश के सभी साथियों ने अपनी “विशेषज्ञता प्रदर्शित है।”