Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

Tokyo Paralympics: खास हुआ राष्ट्रीय खेल दिवस, विनोद कुमार ने डिस्कस थ्रो में दिलाया ब्रॉन्ज मेडल

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

टोक्यो पैरालंपिक में एक ही दिन में भारत ने तीसरा मेडल अपने नाम कर लिया है। विनोद कुमार ने डिस्कस थ्रो में ब्रॉन्ज मेडल को अपने नाम किया है। विनोद 19.91 मीटर का थ्रो फेंककर एशियाई रिकॉर्ड को भी ध्वस्त कर दिया है। विनोद सिल्वर के काफी करीब थे, लेकिन आखिरी क्षणों में वह चूक गए और उनको कांस्य पदक से ही संतोष करना पड़ा। इससे पहले निषाद कुमार ने हाई जंप में भारत को सिल्वर मेडल दिलाया, जबकि टेबल टेनिस में भाविना पटेल ने पैरालंपिक 2020 में देश का खाता सिल्वर से खोला।

 

 

 

विनोद शुरुआत से ही अच्छी लय में नजर आए और उन्होंने पहले प्रयास में 17.46 मीटर का थ्रो फेंका। इसके बाद दूसरी कोशिश में विनोद ने और भी बेहतरीन थ्रो किया और 18.32 मीटर का थ्रो फेंका। चौथे और पांचवें प्रयास में भारत के पैरा एथलीट ने 19.20 मीटर और 19.91 मीटर का थ्रो फेंका। विनोद के पांचवें थ्रो ने उनका ब्रॉन्ज मेडल पक्का किया। विनोद के आखिरी थ्रो ने 19.81 मीटर की दूरी तय की। 19.91 मीटर के थ्रो के साथ ही विनोद ने एशियाई रिकॉर्ड भी तोड़ा। फाइनल में खेले 8 खिलाड़ियों में से विनोद तीसरे स्थान पर रहे। इससे पहले निषाद कुमार ने हाई जंप में 2.06 मीटर की ऊंची कूद लगाकर सिल्वर मेडल अपने नाम किया था।  

 

निषाद शुरुआत से ही बेहतरीन फॉर्म में नजर आए और उन्होंने पहले प्रयास में ही 2.02 मीटर की कूद को पार किया। इसके बाद भारत के इस पैरा एथलीट ने 2.06 मीटर की जंप को दूसरे प्रयास में पार करके नया एशियाई रिकॉर्ड स्थापित किया। निषाद  हालांकि, 2.09 मीटर की जंप को तीनों ही कोशिश में पार करने में असफल रहे, जिसके चलते उनको गोल्ड मेडल जीतने का सपना अधूरा रह गया। निषाद उन खिलाडियों में से एक थे, जिनसे भारत को पैरालंपिक खेलों में मेडल की उम्मीद थी। पैरालंपिक 2020 में भारत ने नाम अब तीन मेडल हो गए है, जिसमें दो सिल्वर और एक ब्रॉन्ज है।

संबंधित खबरें

Source link